Menu

विधानसभा की खाक छानने अन्य राज्यो से आए प्रभारी विधायक

9 months ago 0 128

मंदसौर जिले की चारो सीटो पर, 07 दिन में सर्वे कर तैयार करेंगे रिपोर्टकार्ड,

आलाकमान को सौंपेंगे रिपोर्ट,उसके बाद होंगे टिकट फाइनल

अंतिम सर्वे से पहले वर्तमान मंत्री, विधायको ओर दावेदारो की सांसे फूली
मंदसौर।(राजेश चौधरी) मध्यप्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर बीजेपी युद्ध स्तर पर जुटी हुईं हे, अमित शाह के नेतृत्व केंद्रीय समिति पूरे मध्यप्रदेश की चुनावी रणनीति को तेयार करने में लगी हुई है। चार राज्यों, गुजरात, उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र और बिहार के बीजेपी विधायकों को भोपाल में अहम जिम्मेदारीया दी गई है।
शनिवार को भोपाल के एक निजी रिसॉर्ट में चल रहे ट्रेनिंग कैंप में बीजेपी के प्रदेश चुनाव प्रभारी भूपेंद्र यादव, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान और प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा ने प्रवासी विधायकों को एक महत्वपूर्ण ट्रेनिंग दी। इस दौरान उच्च शिक्षा मंत्री मोहन यादव, गुजरात के विधायक अमित ठाकुर और प्रशिक्षण विभाग के प्रदेश संयोजक विजय दुबे भी मौजूद रहे। ट्रेनिंग के बाद ये विधायक रविवार को मध्यप्रदेश के सभी 230 विधानसभा क्षेत्रों में पहुंचेंगे। जहां 20 अगस्त से 27 अगस्त तक 7 दिन का इनका प्रवास होगा। इस दौरान ये स्थानीय कार्यकर्ता, नेताओं और पदाधिकारियों के साथ ही समाज के प्रभावशाली लोगों और आम जनता से चर्चा करेंगे। इसके आधार पर विधानसभा क्षेत्र की रिपोर्ट बनाकर आलाकमान को सौंपेंगे, जिसके आधार पर फाइनल टिकट सूची तैयार होगी।
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने मध्यप्रदेश के लिए नई रणनीति बनाई है। इसके तहत चयनित प्रत्याशियों को खास ट्रेनिंग दी जाएगी। प्रत्याशियों को मीडिया मैनेजमेंट, सोशल मीडिया हैंडलिंग, कार्यकर्ताओं के साथ को-ऑर्डिनेशन, डेली रिपोर्टिंग, रिस्क मैनेजमेंट, फीडबैक सिस्टम, बतौर अभ्यर्थी फॉर्म भरने की प्रोसेस से लेकर मतदान तक की जानकारी देगी। इसके लिए सभी चयनित कैंडिडेट्स को 21 अगस्त को भोपाल बुलाया है। उम्मीदवारों को यह भी बताया जा रहा हे कि पब्लिक मीटिंग में भाषण देते समय संयमित संसदीय भाषा का उपयोग करें।

यहा हे सबकी नजरें –

मध्यप्रदेश की करीब तीन दर्जन सीटों पर भाजपा ने तीन महीने पहले ही उम्मीदवार घोषित कर सबको चौंका दिया है, वहीं कांग्रेस भी इसका जवाब देने की तैयारी में है कांग्रेस जल्द ही ऐसे सीटों पर उम्मीदवार घोषित कर सकती हैं जहां उनके ही लोगों ने दल बदल कर कांग्रेस की सरकार की गिराने में महत्वपूर्ण भुमिका निभाई थी, ऐसे में कांग्रेस मंदसौर जिले की सुवासरा विधानसभा सीट पर भी जल्द उम्मीदवार घोषित कर सकती हैं। वर्तमान में वर्तमान में इस सीट पर हरदीप सिंह डंग भाजपा के मजबूत उम्मीदवार के रूप में है, वही 20 अगस्त से भाजपा का अंतिम सर्वे भी इस सीट पर किया जा रहा है, जिसके बाद भाजपा भी अपनी जारी होने वाली दूसरी लिस्ट में सुवासरा सीट का उम्मीदवार को घोषित कर सकती है। इसके अलावा मंदसौर जिले की बाकी सीटो पर भी भाजपा का ही लम्बे समय से कब्जा हे, जिसके चलते कांग्रेस के बड़े नेताओं की नजरे यहाँ टिकी हुई है तो भाजपा भी यहां उलटफेर कर सकती है।

इस सीट पर भाजपा के यह भी है दावेदार –

इस पर भाजपा के पूर्व विधायक राधेश्याम पटिदार भी मजबूत दावेदार माने जा रहे है, हालांकि उनकी बहु श्रीमती दुर्गा पाटीदार को जिला पंचायत अध्यक्ष बनाकर शीर्ष भाजपा ने उनकी नाराजगी पहले ही दूर कर दी हे, जिसके चलते इस चुनाव में उनको वापस से उम्मीद्वार बनाने की संभावनाएं बहुत ही कम बची हे, वही राजनीति में अच्छी पकड़ रखने वाली पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती प्रियंका गोस्वामी भी यहां से टिकट की दौड़ में शामिल हे।
इसके अलावा एक और नाम वर्तमान में सबसे चर्चित इंदौरी युवा विनय जांगिड़ का भी शामिल हे ईन्होंने न सिर्फ दावेदारी की हे बल्कि वर्ष 2016 से इस विधानसभा क्षेत्र में सक्रिय हे और हर आम ओर खास कार्यकर्ता के संपर्क में भी हे, हाल ही में विनय जांगिड ने ४०० गाड़ियों ओर हजारों कार्यकर्ताओ के काफ़िले के साथ भव्य तिरंगा यात्रा निकालकर सभी दावेदारो को चौंका दिया है, इसी के चलते लोगो के दिल ओर दिमाग में विनय जांगिड की सकारात्मक छवि बन चुकी हे और युवाओं की पसंद भी बन चुके है। चर्चा यह भी हे की श्री जांगिड अमित शाह समेत कई केंद्र के कई बड़े नेताओं के संपर्क में भी है। हालाकि फाइनल सर्वे में क्या कुछ निकलकर सामने आता हे यह देखने वाली बात होंगी।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *