Menu

स्व. हरिवल्लभ जी के सचिव पद पर रहकर उनकी सेवा हम सबके लिए प्रेरणा स्रोत हैं – राष्ट्रीय अध्यक्ष पोरवाल

11 months ago 0 8

संस्था के द्वारा परिजनों हर दुख संकट की घड़ी में हम कंधे से कंधा मिलाकर साथ खड़ा रह सके हम सब कि जिम्मेदारी
श्री रत्नावत
शामगढ़ (यशस्वी दुनिया)
पोरवाल कुटुंब सहायक संस्था की बैठक पोरवाल मांगलिक भवन शामगढ़ में पोरवाल महासभा के राष्ट्रीय अध्यक्ष मुकेश पोरवाल के मुख्य अतिथि में संस्था के अध्यक्ष सौरभ रत्नावत की अध्यक्षता में एवं संस्था के संचालक गण सचिव महानुभाव तथा विशेष आमंत्रित जनों की उपस्थिति में मां शारदा के तस्वीर पर माल्यार्पण कर बैठक का शुभारंभ किया गया।
बैठक को संबोधित करते हुए मुख्य अतिथि मुकेश पोरवाल ने कहा की कुटुंब सहायक का संस्था का संचालन करने वाले कई आधार स्तंभ रहे हैं। जिन्होंने निस्वार्थ भाव से संस्था के पेड़ को निरंतर अपनी मेहनत से सींचा हैं। ऐसे ही शख्स रामपुरा तहसील के हरि वल्लभ पोरवाल सावन वाले जिन्होंने सचिव पद पर रहकर निस्वार्थ भाव से संस्था से मिलने वाले कमीशन को भी उन्होंने संस्था को दान प्रदान कर दिया। सचिव पद पर रहकर उनकी सेवा हम सबके लिए प्रेरणा स्रोत है। पोरवाल ने कहा कि समाज कि संख्या के अनुपात में संस्था में सदस्यों कि नाम मात्र की है इसलिए संस्था में अधिक से अधिक सदस्यों को जोड़ने के लिए हम सब सहयोगी बने साथ ही संचालक मंडल की बैठक में मेरे सुझाव संस्था की आयोजित संचालक मंडल की बैठक अलग-अलग स्थानों पर आयोजित किए जाने पर निर्णय लेकर आज शामगढ़ में बैठक आयोजित की गई मैं संचालक मंडल का धन्यवाद ज्ञापित करता हूं इससे जहां बैठक आयोजित हो रही है वहां के पदाधिकारी समाज जनों में संस्था के प्रति की भावना बढ़ेगी।
बैठक को संबोधित करते हुए पोरवाल युवा संगठन के प्रदेश अध्यक्ष अशोक मुजावदीया ने कहा कि वर्तमान संचालक मंडल की कार्य योजना बहुत ही सराहनीय है समय के अनुसार एक मामूली सी रकम और वह भी समय पर नहीं मिलने से समाज जनों में बहुत बड़ी नाराजगी हो रही थी परंतु वर्तमान नई संचालक मंडल कार्यकारिणी में 1 लाख रुपए की सहायता देने के निर्णय तथा पुराने सदस्यों का सम्मान बनाए रखते हुए उनके राशि में भी बढ़ोतरी करने का सराहनीय कार्य किया है।
पोरवाल समाज शामगढ़ के अध्यक्ष चंद्रप्रकाश फरकिया अपने संबोधन में उपस्थित जनों एवं समाज जनों से अधिक से अधिक सदस्य बनाए जाने का आह्वान किया।
समाज के वरिष्ठ सम्मानित राम गोपाल घाटिया ने कहा कि संस्था में समय के अनुसार नवीनता की आवश्यकता महसूस की जा रही थी आवश्यकता के अनुरूप 3- 4 हजार रुपए अभी कोई मायने नहीं रखता है इसलिए नवीन प्रस्ताव 1 लाख की योजना बहुत ही सराहनीय है। इसलिए हम सबको मिलकर सदस्य बनना है और बनाना है।
बैठक को बाबुलाल पोरवाल नागदा ने संबोधित करते हुए कहा कि संस्था को 50 वर्ष हो गए परंतु प्रचार-प्रसार नहीं होने के अभाव में समाज के लोग तरह-तरह की चर्चाएं करते हैं और वर्तमान कार्यकारिणी द्वारा अलग-अलग स्थान पर बैठक का निर्णय लिया यह बहुत ही सराहनीय है इससे संस्था के प्रति लोगों में विश्वास बढ़ेगा।
बैठक को संबोधित करते हुए समाज के वरिष्ठ एसएन गुप्ता सुवासरा ने कहा कि पोरवाल समाज के बंधुओं ने इस संस्था की नींव समाज के दुरगामी सोच को रखते हुए स्थापना की थी। वर्षों पूर्व जब एक दो हजार रूपये की सहायता दी जाती थी तो वह कुछ समय के लिए ठीक थी पर अब नई सोच के साथ चलने की आवश्यकता है।
बैठक की अध्यक्षता करते हुए संस्था अध्यक्ष सौरभ रत्नावत ने कहा कि हमारी कुटुंब सहायक संस्था अब एक विराट वटवृक्ष के रूप में बनने जा रही है इस विराट वट वृक्ष के रूप में बनाने के लिए आप सबके समय और सहयोग जी आवश्यकता होगी। संस्था में अधिक से अधिक सदस्य बनें और उनके परिजनों को हर दुख संकट की घड़ी में हम कंधे से कंधा मिलाकर साथ खड़ा रह सके यह केवल कार्यकारिणी ही नहीं अपितु सचिव महानुभावों तथा हमारे सम्मानित आमंत्रित सदस्य महानुभावों के बिना संभव नहीं है हम सबको मिलकर समाज के लिए समाज की संस्था द्वारा कितना अच्छा कर सकते हैं वह हमें करना है इसी भाव को लेकर संस्था द्वारा जिले स्तर पर निःशुल्क चिकित्सा शिविर फिजियो थेरेपी की योगा कैंप का आयोजन करने की शुरुआत की जा रही है उसके पश्चात समाज के लोगों को अधिक से अधिक ऐसे शिविरों के माध्यम से लाभान्वित करने के लिए गांव शहरों में सचिव महोदय के आग्रह पर निशुल्क चिकित्सा शिविर फिजियो थेरेपी योग कैंप आदि का आयोजन किया जाएगा।
इस अवसर पर बैठक में संस्था द्वारा बैठक विषय बिंदु पत्रक उपस्थित जनों को प्रदान किया गया जिस पर प्रश्न संवाद का आयोजन हुआ जिसमें उपस्थित सचिव बनो विशेष आमंत्रित जनों ने अपने अपने सुझाव दिए। बैठक के मुख्य बिंदु में 1 लाख रुपए की सहायता राशि वाले सदस्य की आयु 18 वर्ष व अधिकतम 50 वर्ष होना चाहिए 50 वर्ष या इससे कम आयु वाले सदस्य बनने के पश्चात ₹500 वार्षिक प्रीमियम निरंतर भुगतान करने पर 75 वर्षों तक एक लाख रुपए की सहायता राशि प्राप्त करने का हकदार रहेगा।यह योजना 1 अगस्त 2023 से लागू होगी।सदस्य बनाते समय 1100 ₹ आवेदन शुल्क देना होगा।₹500 वार्षिक शुल्क का समय पर जमा नहीं करने पर प्रतिमा विलंब शुल्क के साथ उसे जमा करने का अवसर प्रदान किया जाएगा। संस्था को आवेदन प्राप्त होने तथा सदस्य बनने के 1 माह के पश्चात योजना से लाभान्वित हो सकेगा।
संस्था में जो पूर्व से आजीवन या साधारण सदस्य हैं वे सहसम्मान सदस्य बने रहेंगे। उन्हें संस्था द्वारा पुराने नियम अनुसार कॉल सहायता राशि का भुगतान किया जाएगा। यदि कोई पुराने सदस्य एक लाख रुपए कि सहायता राशि नई योजना से जुड़ना चाहते हैं तो उनकी उम्र 50 वर्ष या इससे कम होना चाहिए।उनसे नवीन सदस्यता राशि 1100 रुपए नहीं ली जाएगी। उन्हें केवल 500 रुपए वार्षिक राशि देकर जुड़ सकते हैं। बैठक में इस नवीन योजना बिंदुओं पर उपस्थित जनों में बड़ी संख्या में अपना समर्थन प्रदान किया।
बैठक को पोरवाल समाज मंदसौर के पूर्व अध्यक्ष श्री प्रवीण गुप्ता पोरवाल बैंक के कार्यवाहक अध्यक्ष देवीलाल फरकिया ने भी संबोधित किया।बैठक में संस्था के संचालक गण सचिव महानुभाव तथा विशेष आमंत्रित सदस्य महानुभाव बड़ी संख्या में उपस्थित रहे।
बैठक के अंत में संस्था के सचिव सदाशिव कारा सीतामऊ, कैलाश सेठिया कैलाशपुर हरीवल्लभ पोरवाल सावन रामपुरा के निधन पर शोक व्यक्त कर श्रद्धांजलि अर्पित की गई।
बैठक का संचालन कोषाध्यक्ष सुरेश धनोतिया ने एवं आभार सचिव जगदीश घाटिया ने व्यक्त किया।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *