Menu

नए रूप में विकसित होगा कोटा रेलवे स्टेशन

10 months ago 0 0

जबलपुर@यशस्वी दुनिया देश भर के रेलवे स्टेशनों को पुनर्विकसित करके भव्य और विश्व स्तरीय बनाया जा रहा है। इसी कड़ी में भारतीय रेल द्वारा राजस्थान प्रदेश के कोटा रेलवे स्टेशन को पुनर्विकास की योजना के तहत विकसित किया जा रहा है। कोटा रेलवे स्टेशन का पुनर्विकास कार्य 207.63 करोड़ की लागत से तैयार किया जायेगा,जो अप्रैल 2025 तक तैयार करने का लक्ष्य निर्धारित है। स्टेशन के 6765 वर्गमीटर में 02 आगमन ब्लॉक एवं 01 प्रस्थान ब्लॉक का निर्माण किया जायेगा, जहा अत्याधुनिक सुविधाएं मौजूद रहेगी। स्टेशन पर वीआईपी लाउन्ज, वेटिंग रूम, फ़ुड प्लाजा और क्योस्क जैसी सुविधाएं उपलब्ध कराए जाएंगी। प्लेटफार्म नंबर 1 और 3 को जोड़ने की 2100 वर्गमीटर में कॉनकोर्स एरिया का निर्माण किया जायेगा। वहीं यात्रियों की सुविधा के लिए 08 लिफ्ट एवं 14 एस्कलेटर का प्रावधान किया गया है। ये पूरा स्टेशन दिब्यांग फ्रेंड्ली होगा तथा पार्किंग की सुविधा भी उपलब्ध होगी। यात्री सुरक्षा एवं संरक्षा को ध्यान में रखते हुए सीसीटीवी कैमरे भी लगाये जायेंगे। पर्यावरण सरंक्षण के लिए स्टेशन को ग्रीन बिल्डिंग के रूप में विकसित किया जायेगा और साथ ही सौर ऊर्जा एवं जल सरंक्षण की व्यवस्था भी की जाएगी। वर्तमान में स्टेशन के पुनर्विकास के कार्य में सर्वे और सॉयल एक्स्प्लोरेशन का कार्य कर लिया गया है। इसके अतिरिक्त बायो स्टेशन और इलेक्ट्रिक सबस्टेशन की फाउण्डेशन, खुदाई और पीसीसी का कार्य भी किया जा रहा है। भविष्य में पुनर्विकसित कोटा स्टेशन विश्व स्तरीय सुविधाएं उपलब्ध कराएगा और साथ क्षेत्र का आर्थिक विकास भी करेगा। कोटा स्टेशन को पुनर्विकसित करते समय स्टेशन डिजाइन के मानक तत्वों को ध्यान में रखते हुए कार्य किया जा रहा है। जिसमें निम्न सुविधाएं होंगी :- 1) फ्रंट साइड:-फ्रंट साइड स्टेशन भवन का निर्माण। दो मंजिला भवन जिसमें एक मध्यवर्ती मेजानाइन तल में निम्न सुविधाएं रहेंगी
भूतल पर प्रस्थान और आगमन ब्लॉक, टिकट काउंटर, प्रतीक्षालय, क्लॉक रूम, वीआईपी लाउंज, कार्यालयों की सुविधा
*मेजेनाइन फ्लोर जिसमें रिटायरिंग रूम, स्टोर रूम और कार्यालय।l
*l पहली मंजिल में प्रतीक्षालय (सामान्य और महिला), डोरमेट्री, भोजनालय, बजट होटल, शिशु आहार कक्ष, कियोस्क हैं।
2) रियर साइड:-रियर साइड स्टेशन भवन का निर्माण। दो मंजिला भवन जिसमें एक मध्यवर्ती मेजानाइन तल में निम्न सुविधाएं रहेंगी।
भूतल पर प्रस्थान और आगमन ब्लॉक, टिकट काउंटर, प्रतीक्षालय, क्लॉक रूम और अन्य सुविधाएं।
*मेजेनाइन फ्लोर जिसमें ऑफिस स्पेस आदि।
प्रथम तल में प्रतीक्षालय, डोरमेट्री, रिटायरिंग रूम, कियोस्क।
3) *अन्य सुविधाएं :- सभी प्लेटफार्मों पर सीओपी का प्रावधान।
स्टेशन भवनों, पार्किंग और यात्री सुविधाओं आदि के लिए दिव्यांगजनों के अनुकूल पहुंच का विकास।
दो नए यात्री प्लेटफार्म का निर्माण और मौजूदा प्लेटफार्म का चैड़ीकरण।
फ्रंट और रियर स्टेशन बिल्डिंग तथा सभी प्लेटफार्मों को जोड़ने वाले नए कॉनकोर्स का निर्माण।
थ्रू रूफ का निर्माण, प्लेटफॉर्म और रेलवे ट्रैक को कवर करना।
फ्रंट और रियर साइड पर सर्कुलेटिंग एरिया और पार्किंग सुविधाओं का विकास।
स्टेशन के दोनों ओर सर्कुलेटिंग एरिया में लैंडस्केपिंग।
4) विद्युत सुविधाएं:-लिफ्ट, एस्केलेटर, सौर संयंत्र।
5) संचार सुविधाएं:- यात्री सूचना प्रदर्शन प्रणाली, यात्री घोषणा प्रणाली, सीसीटीवी प्रणाली, कोच इंडिकेशन और ट्रेन इंडिकेशन बोर्ड।
वतर्मान में कोटा स्टेशन की प्रगति :-
• कम्युनिटी हॉल – नींव की खुदाई और पीसीसी का काम पूरा, स्तंभ खड़ा करना और कंक्रीट लगाना कार्य प्रगति पर है।
• *रेलवे संस्थान -* नींव की खुदाई और पीसीसी का काम पूरा, कॉलम निर्माण एवं कंक्रीटिंग का कार्य प्रगति पर है।
• इलेक्ट्रिक सब स्टेशन -नींव की खुदाई पूरी, पीसीसी का कार्य प्रगति पर है।
• रियर साईड स्टेशन – नींव की खुदाई, पीसीसी का कार्य प्रगति पर है, राफ्ट फ़ुटिंग का कार्य प्रगति पर है।
• फ़ुटिंग कास्टिंग का काम प्रगति पर है।
• प्लेटफार्म संख्या 02/03 पर मौजूदा बिल्डिंग डिसमेंटलिंग कार्य प्रगति पर है।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *