Menu

मेरठ में कावड़ियो का डीजे हाईटेंशन से टकराया 5 की मौत..,, जेई की लापरवाही

11 months ago 0 3

मेरठ में शनिवार रात कांवड़ियों का डीजे 11 KV की हाईटेंशन लाइन से टकरा गया। इससे उसमें करंट उतर आया। मेरठ के डीएम दीपल मीना ने बताया कि करंट लगने की वजह से 10 कांवड़िए झुलस गए थे। अस्पताल में इनमें से 5 की मौत हो गई, वहीं 2 की हालत गंभीर बनी हुई है। हादसा थाना भावनपुर क्षेत्र के राली चौहान गांव में हुआ ।ये सभी हरिद्वार से कांवड़ लेकर आए थे। मृतकों के नाम हिमांशु, प्रशांत, महेंद्र, लखमी और मनीष बताए जा रहे हैं। हिमांशु और प्रशांत दोनों सगे भाई हैं। तीसरे सगे भाई विशाल की हालत गंभीर है। सभी मृतक राली चौहान गांव के ही रहने वाले हैं।रात 8.30 बजे हुआ हादसा बताया जा रहा है कि हादसा रात 8.30 बजे के आसपास हुआ। जब युवक अपने गांव राली चौहान लौट रहे थे। कांवड़ियों के साथ ऊंचा डीजे था, जो गांव के मंदिर के पास हाईटेंशन लाइन से टकरा गया, जिससे इसमें करंट उतर आया।

मौके पर चीख-पुकार मच गई। कुछ लोगों ने घायलों को ट्रॉली से अलग किया। सूचना पर डीएम और एसएसपी मौके पर पहुंचे। घायलों को गंगानगर के आईआईएमटी, मेरठ के आनंद अस्पताल और मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया गया है। घटना से गुस्साए गांववालों ने जाम लगा दिया। कई थानों की फोर्स मौके पर पहुंच गई है।

सीओ देवेश प्रताप चौहान ने बताया कि युवकों ने जेई से कहा था कि वो कांवड़ लेकर आ रहे हैं। 11 केवी की लाइन से बिजली सप्लाई बंद कर दी जाए। जेई ने कहा कि बिजली कट गई है। इसके बाद युवक कांवड़ लेकर आए। लेकिन बिजली कटी नहीं थी और हादसा हो गया।22 फीट ऊंची थी डीजे कांवड़

ट्रैक्टर-ट्रॉली पर डीजे लगाकर पूरी 22 फीट ऊंची कांवड़ तैयार की गई थी। 4 जुलाई को ये लोग जल लेने हरिद्वार गए थे। आज यानी शनिवार सुबह ही हरिद्वार से मेरठ लौटे थे। वहां मंदिर में जलाभिषेक किया। चूंकि कांवड़ में हैवी साउंड और हैवी लाइटिंग थी, इसलिए दिन में मेरठ के इंचौली में ही एक फार्महाउस पर कांवड़ को खड़ा कर दिया।

रात को कांवड़ लेकर कांवड़िए गांव जा रहे थे। यहां गांव के मंदिर में भी जलाभिषेक करना था। गांव के बाहरी छोर पर सड़क के एक किनारे ईंटों का चट्टा लगा था। इसको बचाने में ट्रैक्टर-ट्राली को दूसरी साइड से निकाला जा रहा था। तभी कांवड़ का म्यूजिक सिस्टम (डीजे) 11 KV की लाइन से टकरा गया।

हादसे की सूचना मिलते ही गांव वाले तुरंत मौके पर पहुंचे। ये लोग घायलों को बाइकों पर लेकर ही अस्पताल में पहुंचे।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *