Menu

सर्पदंश से होने वाली मृत्यु को टाला जा सकता है

10 months ago 0 4

मंदसौर 12 जुलाई 23/ बारिश के समय में कुछ शहरी भागों में, विशेषकर ग्रामीण अंचल एवं वन क्षेत्र से जुड़े स्थानों पर अथवा खेती के स्थान पर विषैले जंतु और सरीसर्पो जैसे साँप एवम बिच्छू का निकलना सामान्य होता है।
ऐसे स्थानों पर रहने और कार्य करने वाले लोगों को इनके द्वारा काटा जाता है और उनके काटने के बाद शरीर में जहर प्रवेश कर जाता है जिसके कारण किसी भी पीड़ित का जीवन मुश्किल में आ जाता है, इस स्थिति से बचने के लिए और संबंधित व्यक्ति की जान बचाने के लिए प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र, सिविल हॉस्पिटल और जिला चिकित्सालय स्तर पर विषरोधक (एंटी स्नेक विनम) दवाइयों की भरपूर व्यवस्था करवाई है जिससे की आपातकाल में किसी का जीवन बचाया जा सके।
यह विषरोधक उपचार शासन की और से बिल्कुल निशुल्क है और 24 घंटे चिकित्सकीय सेवा के साथ सहज उपलब्ध है। इस हेतु जिला प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग आप सभी आमजन से अपील करता है की किसी व्यक्ति को सांप काटने पर उसको तत्काल अपने नजदीकी उक्त शासकीय स्वास्थ्य केंद्र पर लेकर जाए और झाडफुंक, ओझा, मंत्र, ताबीज, देवरे आदि स्थान पर जाने जैसे अनुचित और अंधविश्वास से जुड़े काम को करने से बचे।
सर्पदंश से पीड़ित व्यक्ति को जितनी जल्दी हो सके उक्त शासकीय स्वास्थ्य केंद्र तक लाने का प्रयास करे ताकि प्रशिक्षित चिकित्सक और स्वास्थ्यकर्मी के माध्यम से पीड़ित की जान बचाए जाने का समुचित प्रयास किया जा सके। सर्पदंश से जुड़ी किसी भी घटना अथवा पीड़ित को जिला चिकित्सालय मंदसौर में आकस्मिक कक्ष क्रमांक 09 में उपचार हेतु कभी भी भर्ती कर सकते है एवं दूरभाष 07422-404346 पर सूचित भी कर सकते है।

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *