Menu

शिवसेना द्वारा कुरावन स्थित शासकीय भूमि पर अवैध अतिक्रमण हटाने के लिए दिया गया ज्ञापन

11 months ago 0 5

शामगढ़(यशस्वी दुनिया)
शामगढ़ तहसील के ग्राम कुरावन में शासकीय भूमि पर अतिक्रमण का मामला अब शिवसेना द्वारा उठाया गया है l कुरावन के ग्रामीणों द्वारा इसके पहले ज्ञापन दिया गया था, परंतु अब तक कार्यवाही नहीं होने के कारण शिवसेना ने इस मसले को अपने हाथों में लिया है l इससे पहले 24 मई को कुरावन के ग्रामीण द्वारा इसी भूमि के विषय पर ज्ञापन दिया गया था l ज्ञापन देने के बाद भाजपा युवा मोर्चा जिला अध्यक्ष सुनील पटेल और कुरावन के भाजपा नेता जनपद सदस्य प्रतिनिधि रामप्रसाद राठौर में विवाद हो गया था जिसका आवेदन शामगढ़ थाने में दिया गया था l
शिवसेना द्वारा ज्ञापन में कहा गया कि
म.प्र. में भारतीय जनता पार्टी जनप्रतिनिधि व भूमाफियाओं द्वारा शासकीय जमीनों पर अवैध अतिक्रमण किया जा रहा है, भूमाफियाओं द्वारा व भाजपा जनप्रतिनिधि के द्वारा ग्राम कुरावन तहसील शामगढ़ जिला मंदसौर में शासकीय भूमि सर्वे नम्बर 1024 ग्राम कुरावन से लगी हुई भूमि पर अवैध अतिक्रमण कर पक्की पट्टी पोश बाऊँड्री वाल कर कालोनी कटाने में लगे हुए है। ग्रामीणों द्वारा शिकायत तहसील कार्यालय शामगढ़ में दी गई तथा हल्का पटवारी द्वारा मौका मुआयना कर 40 आरी शासकीय जमीन सर्वे नम्बर 1024 पर अवैध कब्जा पाया गया का प्रतिवेदन तहसीलदार महोदय को पेश किया गया किन्तु आप ही के पार्टी के सत्ताधारी होने से अधिकारी अपने अधिकार प्रयोग करने में असमर्थ बने हुए हैं। तथा और कोई ठोस वैधानिक कार्यवाही नहीं कर पा रहे है।
अतः माननीय महोदय से पुनः अनुरोध है कि क्या आपकी कथनी और करनी में आपके नेता द्वारा किये गये अवैध अतिक्रमण पर मामाजी का बुलडोजर चलेगा या भूमाफियाओं को संरक्षण प्राप्त होता रहेगा ।
शिवसेना जिला मंदसौर द्वारा जनहित में ग्रामीण जनों के सहयोग से ज्ञापन पेशकर अनुरोध करती है कि अवैध अतिक्रमण को जमीदोश किया जावे अतः कार्यवाही नहीं कि जाने पर ग्रामवासीयो व शिवसेना द्वारा धरणा प्रदर्शन किया जावेगा।ज्ञापन देते समय संभाग महासचिव शांतिलाल पाटीदार, जिला प्रमुख कमलेश राजगुरु, जिला उप प्रमुख विनोद कुशवाह, सितामऊ तहसील प्रमुख विजेन्द्र शर्मा मऊखेड़ा, कृष्ण पाल शिह , मुकेश प्रधान, विनोद राठोर, शिवराज शिह राठोर, आदि शिवसैनिक उपस्थित थे

दिया गया ज्ञापन
Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *