Menu

भोपाल में करप्शन नाथ वांटेड नाम से पोस्टर लगे

11 months ago 0 3

भोपाल में कमलनाथ वॉन्टेड के पोस्टर लगाए गए हैं। पोस्टर पर क्यूआर कोड भी दिया है। इस पर लिखा है- स्कैम से बचने के लिए स्कैन करें। पोस्टर्स में पूर्व सीएम कमलनाथ को ‘करप्शन नाथ’ लिखा गया। 15 महीने की कमलनाथ सरकार का जिक्र कर घोटाले बताए गए हैं।शुक्रवार को मामला सामने आते ही कांग्रेस, BJP पर हमलावर हो गई है। कांग्रेस का कहना है कि चुनाव नजदीक आते ही भाजपा अपना वास्तविक चरित्र दिखाने लगी है। हमें छेड़ोगो, तो हम छोड़ेंगे नहीं। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक्शन लें, अगर एक्शन नहीं लेते हैं, तो यह साफ हो जाएगा कि ये बस उनके इशारे पर हुआ है।

लगे पोस्टर

15 महीने की सरकार के घोटालों का जिक्र

पोस्टर्स भोपाल में शाहपुरा, मनीषा मार्केट, शैतान सिंह चौराहे पर लगाए गए हैं।इन पोस्टर्स पर पूछा गया है- 25000 करोड़ का किसान कर्जमाफी घोटाला, 2400 करोड़ का हेलिकॉप्टर घोटाला, 1178 करोड़ का गेहूं बोनस घोटाला, 600 करोड़ का खाद घोटाला, 350 करोड़ का CD घोटाला, 1963 करोड़ का मोबाइल घोटाला किसने किया? इनके आगे ‘करप्शन नाथ’ लिखा है।वीडी शर्मा बोले, BJP का लेना-देना नहींपोस्टर्स पर BJP प्रदेशाध्यक्ष वीडी शर्मा ने कहा, ‘कांग्रेस हमेशा आरोप लगाती है। हर चीज BJP पर क्यों डाली जाती है। BJP का इससे कोई लेना-देना नहीं। किसने ये किया होगा, ये तो कमलनाथ जी बता सकते हैं, लेकिन ये पक्का है कि किसी पर इस प्रकार के टैग लगने का अर्थ है कि आप करप्ट नाथ थे, आपने मध्यप्रदेश को भ्रष्टाचार में डुबोयो था।कर्नाटक में कांग्रेस ने चलाया था PayCM कैम्पेनकर्नाटक में विधानसभा चुनाव के पहले कांग्रेस ने तत्कालीन भाजपा सरकार के मुख्यमंत्री वसवराज बोम्मई के खिलाफ भ्रष्टाचार में शामिल होने के आरोप लगाते हुए PayCM कैम्पेन चलाया था। इस कैम्पेन में PayTM की तरह क्यूआर कोड के भीतर कर्नाटक के तत्कालीन मुख्यमंत्री बोम्मई की फोटो लगाई गई थी। कर्नाटक में यह कैम्पेन चलाने वाले चुनावी रणनीतिकार सुनील कानूगोलू अब मप्र कांग्रेस के चुनाव कैम्पेन की कमान संभालने वाले हैं। मप्र में कांग्रेस कर्नाटक जैसा कैम्पेन शुरू कर पाती, उससे पहले ही कमलनाथ की सरकार पर हमला ‘बोलते हुए ये पोस्टर लगाए गए हैं। हालांकि, ये पोस्टर किसने लगाए और किसकी तरफ से लगाए गए? ये साफ नहीं है। सोर्स दैनिक भास्कर

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *